Monday, March 17, 2008

प्रकृति का एक रूप


अपना सौंदर्य बिखेरने में प्रकृति कभी कृपणता नहीं दिखाती है।


1 comment:

परमजीत बाली said...

बहुत सुन्दर चित्र प्रेषित किया है।